बैंकों का खजाना खाली देख दिन भर होता रहा हंगामा, टूटते रहे सब्र के बांध

 

लखनऊ (जेएनएन)। पंद्रहवें दिन भी नकदी संकट से उप्र को निजात नहीं मिली। आज बैंकों में कैश की भारी कमी की वजह से दिन भर हंगामे होते रहे। अधिकांश बैंकों में कैश खत्म होने से नकदी के लिए मारामारी रही। एटीएम भी ठेंगा दिखाते रहे। नाराज भीड़ ने कई जिलों में जाम भी लगाया। बैंक कर्मियों से तकरार के बाद ग्राहकों से मारपीट हुई। राजधानी लखनऊ के आसपास के जिलों में बैंकों का खजाना और एटीएम खाली रहे। ग्रामीण क्षेत्रों के अधिकांश बैंकों में कैश खत्म होने से नकदी के लिए दिनभर मारामारी रही। राजधानी में बुधवार को बैंकों में हालात कुछ हद तक सामान्य दिखे। हालांकि नगदी का संकट बरकारार है पिछले दिनों की तरह लंबी कतारें नजर नहीं आयीं।गुरुवार से राजधानी में पांच सौ के नोट मिलने लगेंगे।

बैंकों का खजाना खाली देख दिन भर होता रहा हंगामा, टूटते रहे सब्र के बांध
 
आज बैंकों में कैश की भारी कमी की वजह से दिन भर हंगामे होते रहे। अधिकांश बैंकों में कैश खत्म होने से नकदी के लिए मारामारी रही।

फैजाबाद, अंबेडकरनगर, सुलतानपुर, बाराबंकी, अमेठी, रायबरेली, गोंडा, बलरामपुर, बहराइच, श्रावस्ती, लखीमपुर व सीतापुर में नकदी के लिए भटकना पड़ा। कारण अधिकांश बैंकों में दोपहर बाद नकदी खत्म हो गई। अधिकांश एटीएम मुंह चिढ़ा रहे हैं। वृद्धजन लाइन में धक्के खा रहे हैं। कैश के अभाव में गोरखपुर-बस्ती मंडल के पूर्वांचल ग्रामीण बैंक की कई शाखाओं के ताले नहीं खुले।

बस्ती जनपद के ग्रामीण इलाकों में सभी एटीएम बंद हैं। पूर्वांचल ग्रामीण बैंक की कुदरहा सहित 6 बैंक कैश न होने से बंद चल रहे हैं। देवरिया के पथरदेवा में पूर्वांचल ग्रामीण बैंक कैश के अभाव में नहीं खोला गया। सिद्धार्थनगर में मिठवल स्थित पूर्वांचल ग्रामीण बैंक का ताला नहीं खुला। यही हाल महराजगंज और कुशीनगर का है। कानपुर में बुधवार का दिन भी राहत भरा नही रहा। शादी-विवाह के अलावा अन्य आवश्यक कार्य करने वाले तो लाचार हैं। बुदेलखंड तथा मध्य यूपी के महत्वपूर्ण बैंकों में भी नकदी की किल्लत रही। उन्नाव, फतेहपुर, कन्नौज, फर्रुखाबाद,औरैया, इटावा,हरदोई, बांदा,चित्रकूट,हमीरपुर, उरई तथा महोबा में लोग नकदी न मिलने से खासे परेशान रहे। इन जिलों के सर्वाधिक एटीएम शोपीस बने रहे। छोटे व मझले व्यापारियों की हालत तो पतली हो ही गई है, रोज के खाने-कमाने वाले भी आर्थिक तंगी से जूझ रहे हैं।

प्रतापगढ़ में बंधक बनाए बैंक कर्मी

बैंक और एटीएम में भारी भीड़ रही। इलाहाबाद के शहरी इलाकों में तो हालात कुछ हद तक सामान्य होते दिखे, लेकिन गांवों में दिक्कत रही। प्रतापगढ़ में बड़ौदा उत्तर प्रदेश ग्रामीण बैंक की शाखाओं पर नकदी नहीं होने से जमकर हंगामा हुआ। कुंडा में गुस्साए लोगों ने ग्रामीण बैंक कर्मियों को बंधक बना लिया। जिला मुख्यालय प्रतापगढ़ कई बैंक में जमकर लेन देन हुआ। पर 4 एटीएम ही चले। पट्टी, लालगंज में एक भी एटीएम नहीं चला। इलाहाबाद में सुबह अधिकतर बैंकों में पैसा खत्म हो गया। बैंक कर्मियों से भी नोकझोंक होती रही। कौशांबी में भी जहां तहां लाइनें नजर आईं।

पश्चिमी उप्र भी रोता रहा

मथुरा के बैंकों में बवाल, हंगामा हुआ। वृंदावन रोड स्थित ङ्क्षसडिकैट बैंक के सामने भीड़ ने जाम लगाया। बैंककर्मी अंदर बंद रहे। सुरीर में भीड़ के कारण आधा घंटा तक शाखा प्रबंधक बैंक के अंदर नहीं जा पाए। मथुरा में वृंदावन रोड स्थित ङ्क्षसडिकेट बैंक, रुपम टाकीज के पास सेंट्रल बैंक में लोगों ने हंगामा कर दिया। देहात क्षेत्र अडींग में बैंक के सामने लोगों ने प्रदर्शन किया। अधिकांश बैंकों और एटीएम में कैश की कमी रही। आगरा भी खाली खजाने से परेशान रहा। शाहगंज में बैंक ऑफ बड़ौदा पर आठ दिनों से टरकाए जा रहे ग्राहकों का धैर्य जवाब दे गया। तकरार हुई तो बैंक कर्मियों ने ग्राहकों की पिटाई कर दी। फीरोजाबाद में भी बैंकों में कैश की कमी रही। नगला बीच में बैंक में कैश न होने पर गुस्साए लोगों ने रोड जाम कर दी। मैनपुरी, एटा के बैंकों में भी कैश नहीं आया। अलीगढ़ के बैंकों में कैश की भारी किल्लत के चलते रुपए न मिलने से नाराज महिलाओं ने जाम लगा दिया। केनरा बैंक में तीन दिन से कैश नहीं बंट रहा था। बाकी बैंकों में लगीं लंबी लाइन रहीं। एसबीआइ की रामघाट रोड शाखा पर लाइन में लगी महिला बेहोश होकर गिर पड़ी। मुरादाबाद, सम्भल में बैंकों और एटीएम से नोट निकासी के लिए लाइन लगी रहीं। हालांकि संख्या पहले से कम थी। अमरोहा में भी कतारें लगी रहीं। रजबपुर व नौगावां सादात में शादी के लिए पैसे न मिलने पर युवतियों ने बैंक में हंगामा किया। जोया व नौगावां सादात की चार शाखाएं पैसे की किल्लत को लेकर ग्राहकों के आक्रोश से जूझीं। रामपुर में भी बैंकों और एटीएम से रुपये निकासी की जद्दोजहद रही। मेरठ, सहारनपुर मंडल में भी नकदी का संकट रुलाता रहा। बरेली में बैंकों में भीड़ कम रही, पर एटीएम पर अधिक लोग उमड़े।

बरात बिना निकाह करना पड़ा

अमरोहा के नौगावां सादात में नोटबंदी के बाद दुल्हन के परिजनों ने बरात बुलाने में असमर्थता जताई तो दूल्हा पक्ष ने सिर्फ निकाह कर शादी की रस्म निभाई।

सौजन्य: दैनिक जागरण –

By Nawal Mishra Publish Date:Wed, 23 Nov 2016 08:30 PM (IST) | Updated Date:Thu, 24 Nov 2016 12:36 AM (IST)
http://www.jagran.com/uttar-pradesh/lucknow-city-bankss-reserves-continued-commotion-patiente-could-not-win-15086220.html

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

Time limit is exhausted. Please reload CAPTCHA.